Site icon dhanbadonline.com

[2022] Tourist places in Dhanbad|धनबाद के पर्यटन स्थल- Most important details

देश का  कोयला राजधानी कहा जाने वाला शहर धनबाद जो की झारखंड राज्य में है, यहाँ काला हीरा कहे जाने वाले कोयले का बहुत सारी खदाने है। यह शहर कोयले के साथ साथ बहुत सारी खूबसूरती को अपने अंदर समेटे हुए है, यहाँ बहुत सारे प्रसिद्ध पर्यटन  स्थल है जो पर्यटकों से हमेशा भरे रहते है। यहा रेल मार्ग और सड़क मार्ग से आसानी से पंहुचा जा सकता है,यह शहर राष्टीय राज्य मार्ग -2(दिल्ली -कोलकाता ) से जुडा है और पूर्व मध्य रेल मार्ग ( दिल्ली- हावड़ा) से जुडा है। धनबाद रेलवे स्टेशन देश में दूसरा सबसे ज्यादा कमाई करने वाला रेलवे स्टेशन है I

शहर में  आने के बाद आप जहाँ काले हीरे  की खानो को देख पायेगे वही इस शहर की प्राकृतिक सुन्दरता का भी आनंद ले सकेंगे I यहाँ बहुत सारी झीलों, मंदिरों, पार्को, इत्यादि का लुफ्त उठा सकते है, जैसे मैथन डेम, पंचेत डेम, तोपचाची झील, भटिन्डा जल प्रपात ,लिलोरी मदिर , शक्ति मंदिर, भुज्फोड़ मंदिर ,बड़ा गुरुद्वारा, साईं मंदिर, टाटा पार्क ,बिर्शमुंडा पार्क  इत्यादि।

ये सब देश की कोयला राजधानी कहे जाने वाला शहर  धनबाद का कुछ प्रमुख आकर्षण है। इन पर्यटन स्थलों की विस्तृत जानकारी आगे मिलेगी I Iधनबाद घुमने के लिया सब से अच्छा समय अक्टूबर महीने में है  क्यों की इस समय आप पर्यटन स्थलों के साथ साथ यहा के विश्व प्रसिद्ध दुर्गा पूजा का भी आनंद ले सकेंगे I

मैथन डेम

मैथन डेम धनबाद के प्रमुख पर्यटन अस्थालो में सबसे पहले नंबर पर आता है I यह स्थान धनबाद स्टेशन से लगभग 45  से 50 km दूर  स्थित है । यह डेम बराकर नदी पर बना हुआ है, जो दामोदर नदी की सहायक नदी  है । यह डेम 1957 में बन कर तैयार हुआ और इस डेम की उत्पादन छमता लगभग 6०,००० KW है।

इस डेम को दामोदर वेली कारपोरेशन( डी वी सी) द्वारा संचालित किया जाता है, ये डेम झारखण्ड और बंगाल को एक दुसरे से आलग करती है, यानि ये डेम या यू कहे की ये दामोदर नदी के दो किनारों पर देश के दो राज्य है बंगाल और झारखण्ड I

मैथन डेम पनबिजली  प्रिवोजना के तहत बनायीं गयी है, यह पानी से बिजली उत्पन कर के देश के कई शहरो को रोशन करती है। इस डेम के कुछ भाग पर मत्स्य पालन भी किया जाता है और यह पर्यटन के लिए भी बहुत ही खुबसूरत जगह है।

यहाँ सैलानियों के लिए नौका विहार की सुविधा है। यहाँ स्पीड बोट, पैडल बोट, और हाथ से चलने वाली नौका भी है, यहाँ चट- पटी खाने की चीजे जैसे भेल पूरी, वटाटापूरी, पानी पूरी, चाट,इत्यादि का भी पर्यटक  लुफ्त उठा सकते है ,

यहाँ एक प्राचीन माँ दुर्गा का मंदिर भी स्थित है,जिसका नाम कल्यानेश्वरी मंदिर है ,जहा मन से मागी हुई हर मन्नत पूरी होती है। यहाँ हर दिन भगतो का ताता लगा रहता हैI

लिलोरी स्थान

लिलोरी मंदिर धनबाद का दूसरा सबसे आकार्सक पर्यटन स्थल है। यह धनबाद स्टेशन से लगभग 20-25 km की दूरी पे कतरास में स्थित है  । यह मंदिर लगभग 800 साल पुराना माँ काली का मंदिर है , इसे पूर्व मध्प्रदेश के रीवा राजघराने के वंशज से तलूक रखने वाले राजा सुजन सिंह ने बनवाया था, यहाँ आज भी पहली और विशेष पूजा राजघराने के लोग ही करते है उसके बाद ही यह मंदिर आमलोगों के लिए खोला जाता है ।

यहाँ प्रतिदिन एक पशु बलि होती है, यह स्थान भी बहुत ही आकार्सक है, मंदिर से कुछ ही दूर पर एक छोटी नदी बहती है, यहाँ बिहार बंगाल उड़ीसा एवंम अन्य राज्यों से भी भगत आते है। यहाँ के लोगो का मानना है माँ पुरे धनबाद वासियो की रक्षा करती है। माँ काली यहाँ मन से मांगी हर मुराद पूरी करती है , यहाँ हर दिन हजारो की संख्या में भगत आते है ।यहाँ एक बहुत ही आकर्षक बच्चो के लिए पार्क बनवाया जा रहा है जो जल्द ही पूरा हो जायेगा, फिर इसका आकर्षण और बढ़ जायेगा I

तोपचाची झील :-

तोपचाची झील मुख्य रूप से एक जल धरा है। ये स्थान धनबाद स्टेशन से लगभग 35-40 km दूर है , और यह बोकारो से लगभग 40 km दूर है। इसे झरिया जल बोर्ड द्वारा बनाया गया था ताकि शहर में जल की आपूर्ति हो सके और ये सफल भी रहा, ये स्थान NH-2 पर है ,यहाँ लगभग 8-9 वर्ग km हानिरहित जंगली जानवरों का अभ्यारण है।

यहाँ आप हिरन ,बारहसिंगा ,आदि जानवरों को देख सकते है ,ये स्थान पारसनाथ पहाड़ो के नजदीक है तो आप एक साथ तोपचाची झील और पारसनाथ पहाड़ दोनों ही देख सकते है। ये एक बहुत ही सुन्दर पिकनिक स्पॉट है । यह स्थान  प्राकृतिक नजारों से भरा हुआ है , यहाँ आप नोका विहार का भी आनंद ले सकेगे I

टाटा पार्क :-

टाटा पार्क धनबाद के जामाडोबा में स्थित है। ये स्थान धनबाद स्टेशन से लगभग 24 km दूर है, यह एक बहुत ही खुबसूरत पार्क है । ये टाटा कंपनी द्वारा बनाया गया है, इसका संचालन टाटा के द्वारा ही किया जाता है। यह पार्क टाटा कर्मियों और उनके परिवार वालो के लिए हर दिन खुलता है पर बाहरी लोगो के लिए ये पार्क रविवार को  शाम 4:00 बजे से ले कर शाम 7:30 बजे तक खुला रहता है। इस पार्क के अंदर आने का कोई चार्ज नहीं है।

बिरसामुंडा पार्क :-

बिरसमुंडा पार्क धनबाद का एक बहुत ही खुबसूरत पार्क है।यह धनबाद स्टेशन से लगभग 10-12 km दूर है। इस पार्क में सभी के लिए कुछ न कुछ है, बच्चो के लिए बहुत सरे झूले, स्लाइड्स, टॉय ट्रेन, भूल भभुलायिया  इत्यादि है। यहाँ खाने के लिए पार्क के अन्दर ही कैंटिन की भी सुविधा है। पार्क में अलग अलग किस्म के फूल और पौधे है जो पार्क के आकर्षण में चार चाँद लगते है। ये जगह शहर के शोर गुल से दूर, शांत जगह पर है जहा कुछ पल के लिए लोग शहर की भीड़-भाड़ से दूर कुछ पल आपनो के साथ बिता सकते हैं।

 पार्क का समय और प्रभार-

सुबह 6 बजे से 8 बजे (सभी दिनों पर प्रवेश मुक्त)
सुबह 9 बजे से शाम 7 बजे( शुल्क के साथ )

प्रवेश टिकट: –

सोमवार से शुक्रवार: – 
बच्चों (5 वर्ष से कम आयु) – निशुल्क
बच्चों (5 साल से 12 साल तक) – रुपये 5
वयस्क (12 वर्ष से ऊपर) – 15 रुपये
शनिवार रविवार: –
बच्चों (5 वर्ष से कम आयु) – निशुल्क
बच्चों (5 साल से 12 साल तक) – 10 रुपये
वयस्क (12 वर्ष से ऊपर) – 20 रुपये

भटिंडा फॉल:-

भटिंडा फाल धनबाद में एक अलग आकर्षण रखता है। यहाँ  पहाड़ो और हरियाली से घिरा हुआ एक झरना है, यह प्राकृतिक प्रेमियो के लिए बहुत ही खुबसूरत स्थान है। यह धनबाद स्टेशन से 14km दूर है, यह धनबाद में एक बहुत ही सुरंद पिकनिक करने की जगह है। यहाँ दिसंबर और जनवरी महीने में पर्यटकों की भारी भीड़ जुटती है , यह जगह हमें शांति और शांतिपूर्ण परिवेश का अनुभव करने का मौका देती है।

पंचेत डेम :-

धनबाद के भीड़ भाड से दूर एक ऐसी जगह जहा आ कर शांति की अनुभूति हो ये जगह है पंचेत डेम। धनबाद स्टेशन से लग भग 60 km दूर है। यह चिरकुंडा  मुख्य मार्ग से 9 km दूर है। ये डेम दामोदर नदी पर बना है और इसका उध्गाटन 1949 में हुआ है । पर्यटक कुमारधुबी पहुंचकर इस स्थान तक पहुंच सकते हैं, जो ग्रैंड चॉर्ड लाइन के माध्यम से पंचेत बांध से केवल 10 km निकटतम रेलवे स्टेशन है। यह स्थान पिकनिक के लिए बहुत ही प्रशिद्ध है। यहाँ लोग क्रिश्मस और नए साल में आना पसंद करते है.

शक्ति मंदिर:-

शक्ति मंदिर धनबाद शहर  के अंदर बसा हुआ माँ दुर्गा का मंदिर है । इस मंदिर पर भगतो की बहुत श्रधा है, सुबह और शाम को माँ की विशेष आरती होती है । यह मंदिर शहर की भीड़ में एक मन की शांति पाने की एक अधबुद्ध जगह है। यहाँ मन से मांगी हर मुराद पूरी होती है। नव रात्रि के समय यहाँ लोगो की भीड़ लगी रहती है.

Read this also:–> https://dhanbadonline.com/taxi-service-in-dhanbad/

Dhanbadonline HomeClick Here

Exit mobile version